top of page
Image by NordWood Themes
Image by NordWood Themes

श्मशान



आप को लगता है आपने हरा दिया

श्मशान हो आइए

वहाँ धुँए से हारती पली पुषी देह से पता चलता है

कौन हारता कौन जीतता है

आपको लगता है आप कुछ हैं या कुछ नहीं हैं

श्मशान हो आइए

वहाँ सजी हुई चिता में देह का होकर भी कुछ न होना

मिट्टी का कुछ न होकर भी बने रहना

बताता है कुछ होना या कुछ न होना असल में क्या है

आपको लगता है आप प्रेमी हैं

आपने प्रिय से अच्छा बुरा सब आत्मसात किया है

श्मशान हो आइए

वहाँ घी और माँस को एक साथ

आत्मसात् करती धधकती चिता कहती है

सर्वस्व को आत्मसात करना क्या है

आपको लगता है आपको जीवन की समझ है

श्मशान हो आइए

वहाँ बुझी चिता से झाँकता लाल अंकुरण

आपकी समझ को आइना दिखाएगा

आपको लगता है आप बहुतों के और आपके बहुत नातेदार हैं

श्मशान हो आइए

नातेदारी से नज़दीकी या दूरी

चिता की आँच बखूबी अहसास करा जाएगी

आपको लगता है आपके पास बड़ी शक्ति है

आपकी चतुराई धन पद प्रतिष्ठा से आप को हिलाया न जा सका है

श्मशान हो आइए

एक ही भोथरे बाँस के ठूँठ से

न जाने कितनों की कपाल क्रिया होती है

आपको लगता है सच और झूठ का आपको ज्ञान है

तिड़ककर धुआँ होती समझें आपको आपकी समझ की

सीमा समझा जाएगी

आपको लगता है आप अटल हैं

श्मशान हो आइए

वहाँ पता चलेगा आप कितने क्षणभंगुर हैं

मृत्यु कितनी अटल है

आपको लगता है आपने सफल जीवन जिया

मणिकर्णिका में करोड़ों करोड़ों जलती चिताओं की साक्षी रही

गंगा की अविरल मुस्कुराती धारा ही बता पाएगी कि

किस रविदास का जीवन असफलता की खोल में

सफलता का महागीत रहा

और किस पंडित सम्राट सेठ या समाजसेवी का जीवन

सफलता की खोल में निरी असफलता ठहरा

इस दुनिया में श्मशान ही

एकमात्र सच और झूठ की कसौटी है

सीधी सी तो बात है

जो श्मशान न छीन सके वही खरा सच है

यह जीवन गीत गुनकर

यदि आप एक दिन को भी अपनी ओर नहीं देख पाते

निश्चिंत रहिए कहीं न जाइए

श्मशान भी आपको नहीं जगा सकता

श्मशान थोड़े से जगे को ही जगाता है

बाक़ी को तो अधिक से अधिक

श्मशान वैराग्य है

धर्मराज

10 February 2023


9 views0 comments

Comments


bottom of page